केजरीवाल को हाईकोर्ट ने जारी किया नोटिस, जमानत तो दूर की बात, स्टे मिलेगा या नहीं इस पर भी फैसला होगा

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल शराब घोटाले को लेकर मुश्किल हालात का सामना कर रहे हैं। उन्हें इंतजार है कि क्या हाई कोर्ट राउज एवेन्यू कोर्ट के फैसले को मंजूरी देगा। उसके बाद उनके मामले की आगे समीक्षा की जाएगी। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के लिए हालात मुश्किल होते जा रहे हैं। भले ही निचली अदालत ने कहा है कि वे जेल से बाहर आ सकते हैं, लेकिन अब उच्च न्यायालय मामले को देख रहा है। उन्होंने अभी तक कोई फैसला नहीं किया है और वे केजरीवाल से बात भी करना चाहते हैं। इसलिए, यह अनिश्चित है कि वे जल्द ही जेल से बाहर आ पाएंगे या नहीं। कोर्ट ने कहा कि अरविंद केजरीवाल घर जा सकते हैं, लेकिन अगले दिन एक अन्य कोर्ट ने कहा कि वे घर नहीं जा सकते। आगे क्या होगा, यह तय करने के लिए वे एक और सुनवाई करने जा रहे हैं। हाई कोर्ट जल्द ही यह तय करने जा रहा है कि अरविंद केजरीवाल अपने मामले की सुनवाई के दौरान जेल में रहेंगे या रिहा होंगे। यह फैसला सिर्फ इस बारे में होगा कि वे अस्थायी तौर पर जेल से बाहर आ सकते हैं या नहीं। उनके मामले पर अंतिम फैसला आने में अभी और समय लगेगा। अगर हाई कोर्ट कहता है कि वे मामले के दौरान जेल में रह सकते हैं, तो वे वहीं रहेंगे। लेकिन अगर वे कहते हैं कि वे बाहर जा सकते हैं, तो वे जेल से बाहर आ सकेंगे। आपको एक निश्चित समय तक जेल में रहना होगा। केजरीवाल को जेल में रखने का राउज एवेन्यू कोर्ट का फैसला तब तक टल जाएगा जब तक हाई कोर्ट यह तय नहीं कर देता कि वे इसे बरकरार रखेंगे या पलट देंगे। इसका मतलब है कि केजरीवाल अभी जेल में ही रहेंगे। कोर्ट में ईडी ने दलील दी कि उनके पास इस बात के सबूत हैं कि केजरीवाल किसी मामले में शामिल हैं और उन्हें जमानत नहीं दी जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि उनके पास गोवा चुनाव में 45 करोड़ रुपये के इस्तेमाल के सबूत हैं। केजरीवाल के वकीलों ने दलील दी कि उनके खिलाफ कोई सबूत नहीं है और गवाहों पर बयान देने के लिए दबाव डाला गया हो सकता है। कोर्ट सभी दलीलें सुनने के बाद फैसला करेगा।

मोदी कैबिनेट का 12 लाख नौकरियां देने का फैसला, आज चैन से सो नहीं पाएंगे उद्धव ठाकरे

सरकार ने महाराष्ट्र के पालघर में एक नया बंदरगाह बनाने की योजना को मंजूरी दे दी है, जिस पर बहुत पैसा खर्च होगा। महाराष्ट्र के पूर्व नेता को यह अच्छा विचार नहीं लगता। मोदी सरकार ने महाराष्ट्र में एक नया बंदरगाह बनाने की एक बड़ी परियोजना को मंजूरी दे दी है, जिस पर बहुत पैसा खर्च होगा। इस परियोजना से क्षेत्र के लोगों के लिए रोजगार के कई अवसर पैदा होंगे। भले ही महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री को यह विचार पसंद नहीं आया, लेकिन सरकार ने इसे आगे बढ़ाने का फैसला किया है। यह फैसला उन्हें परेशान कर सकता है। मार्च 2024 में, शिवसेना (यूबीटी) के नेता उद्धव ठाकरे ने वधावन बंदरगाह के निर्माण को रोकने का वादा किया था क्योंकि स्थानीय मछुआरे इसे नहीं चाहते थे। उन्होंने कहा कि इस परियोजना के बारे में पहली बार 1995-99 में सोचा गया था जब शिवसेना-भाजपा की सरकार थी, लेकिन बाद में इसे रद्द कर दिया गया था। उद्धव ठाकरे ने 90 के दशक के अंत में क्षेत्र का दौरा किया और ग्रामीणों और मछुआरों से बात की। उद्धव ठाकरे ने कुछ कहा। उद्धव ठाकरे ने चेतावनी दी कि अगर सरकार वधावन बंदरगाह परियोजना के बारे में स्थानीय ग्रामीणों और मछुआरों की चिंताओं को नहीं सुनती है, तो वह विरोध करने के लिए बहुत से लोगों को इकट्ठा करेंगे। लेकिन भले ही ठाकरे इस परियोजना के खिलाफ थे, फिर भी भाजपा पालघर में जीत गई। नए भाजपा सांसद हेमंत सावरा ने कहा कि वे वधावन बंदरगाह के साथ किसी भी मुद्दे को सुलझा लेंगे। प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में भारत में महत्वपूर्ण निर्णय लेने वाले लोगों के समूह ने एक विकल्प चुना है। प्रधानमंत्री और उनकी टीम ने महाराष्ट्र में वधावन नामक एक नया बंदरगाह बनाने का एक बड़ा फैसला किया। इस पर बहुत पैसा खर्च होगा और कई नौकरियां पैदा होंगी। बंदरगाह बहुत सारे कंटेनर रखने में सक्षम होगा और पास में परिवहन के अच्छे विकल्प होंगे। उम्मीद है कि 2029 में जब यह बनकर तैयार हो जाएगा तो यह दुनिया के सबसे अच्छे बंदरगाहों में से एक होगा।

विवादों में जुनैद खान की ‘महाराज’, मुरैना में फिल्म का विरोध, मेकर्स ने दी चेतावनी- ‘अगर बैन नहीं किया तो…’

आमिर खान के बेटे जुनैद खान ‘महाराज’ नामक नई फिल्म में काम कर रहे हैं। कुछ लोग फिल्म से खुश नहीं हैं और इसका विरोध कर रहे हैं। उनका कहना है कि अगर फिल्म को रिलीज होने से नहीं रोका गया तो पूरे देश में इसका विरोध किया जाएगा। आमिर खान के बेटे जुनैद खान ‘महाराज’ नामक फिल्म में काम करने जा रहे हैं, लेकिन कुछ लोग इससे खुश नहीं हैं। हिंदू समूह फिल्म का विरोध कर रहे हैं और आज मध्य प्रदेश के मुरैना में ब्राह्मणों और वैष्णवों के एक समूह ने विरोध प्रदर्शन किया और मुख्यमंत्री को एक पत्र दिया। एक खास समूह के लोग एक फिल्म को लेकर परेशान हैं, जो उन्हें लगता है कि उनके धर्म और देवताओं का अपमान करती है। उन्होंने फिल्म को दिखाए जाने से रोकने की मांग की है और अगर उनकी मांगें पूरी नहीं हुईं तो विरोध करने की धमकी दी है। उनका मानना ​​है कि फिल्म में उनकी मान्यताओं को नकारात्मक तरीके से दिखाया गया है। इंटरनेट पर कुछ लोगों को यह फिल्म पसंद नहीं आ रही है और वे इसके बारे में बुरी बातें कह रहे हैं। कुछ दिनों से सोशल मीडिया पर कई लोग जुनैद खान की ‘महाराज’ नामक फिल्म को लेकर परेशान हैं। उन्होंने ट्विटर पर बॉयकॉट नेटफ्लिक्स नाम से हैशटैग शुरू किया ताकि फिल्म को 14 जून, 2024 को रिलीज़ होने से रोका जा सके। फिल्म अभी तक रिलीज़ नहीं हो पाई है क्योंकि बहुत से लोग इसके खिलाफ़ थे। फिल्म मल्होत्रा ​​पी. सिद्धार्थ द्वारा बनाई गई थी और यश फिल्म्स द्वारा निर्मित थी। फिल्म ‘महाराज’ एक वास्तविक घटना के बारे में है जो बहुत समय पहले हुई थी। यह एक पत्रकार और समाज सुधारक करसनदास मुलजी की कहानी बताती है, जिसका किरदार जुनैद खान ने निभाया है, और जदुनाथजी बृजरतनजी महाराज नामक एक व्यक्ति की कहानी बताती है, जिसका किरदार जयदीप अहलावत ने निभाया है। यह फिल्म भारत में 1862 के एक प्रसिद्ध कोर्ट केस पर आधारित है जिसे महाराज मानहानि केस कहा जाता है।

उर्फी जावेद से शादी करेंगे ओरी! एक-दूसरे की बाहों में हाथ डालकर दिए पोज, एक्ट्रेस ने किया किस, लोग बोले- ‘आज लगा कि भगवान…’

उर्फी जावेद और ओरी पार्टियों में साथ में काफी समय बिता रहे हैं और उन्हें अनन्या पांडे और सुहाना खान जैसे मशहूर बच्चों का समर्थन मिल रहा है। उनका किस करते हुए एक वीडियो वायरल हो रहा है और ओरी ने कहा है कि वह उर्फी से शादी करेंगे। उनका एक और वीडियो भी खूब चर्चा में है। उर्फी जावेद और ओरी साथ में काफी समय बिता रहे हैं और मौज-मस्ती कर रहे हैं। लोगों को लगता है कि वे शायद बॉयफ्रेंड और गर्लफ्रेंड हैं। उन्हें 14 जून को मुंबई में फोटोग्राफरों ने देखा और अब हर कोई इस बात की चर्चा कर रहा है कि वे कितने अच्छे से साथ में हैं। वीडियो में ओरी और उर्फी साथ में तस्वीरें ले रहे हैं। उर्फी ने ओरी को गाल पर किस किया और फिर फोटोग्राफरों ने ओरी से पूछा कि क्या वह उर्फी से शादी करना चाहते हैं। ओरी ने हां कहा और अब बहुत से लोग कह रहे हैं कि वे साथ में क्यूट लगते हैं। View this post on Instagram A post shared by Viral Bhayani (@viralbhayani) पार्टी में अनन्या पांडे और सुहाना खान के साथ मस्ती करते हुए देखा गया। कुछ लोगों को लगता है कि उर्फी और ओरी साथ में अच्छे लगते हैं और एक बेहतरीन जोड़ी बनाते हैं। वे अच्छे दोस्त हैं और अक्सर साथ में घूमते हुए देखे जाते हैं। ‘बिग बॉस ओटीटी’ नामक टीवी शो की वजह से मशहूर हुईं। उर्फी जावेद एक लोकप्रिय अभिनेत्री हैं जो अपने अनोखे ड्रेसिंग स्टाइल के लिए जानी जाती हैं। उन्होंने हाल ही में बॉलीवुड फिल्मों में अभिनय करना शुरू किया है और जल्द ही अमेज़न प्राइम वीडियो पर एक शो में नज़र आएंगी। वह ‘ये रिश्ता क्या कहलाता है’ और ‘कसौटी ज़िंदगी की’ जैसे टीवी शो में भी नज़र आ चुकी हैं। ‘बिग बॉस ओटीटी’ नामक रियलिटी शो में आने के बाद उन्हें बहुत सारे प्रशंसक मिले और वह ‘स्प्लिट्सविला’ में भी नज़र आईं।

नताशा जिम में कर रही थीं डांस, वीडियो देख भड़के लोग, कहा- हार्दिक के साथ तलाक का ड्रामा क्यों किया?

मशहूर हस्ती नताशा स्टेनकोविक को ऑनलाइन मतलबी लोग चिढ़ा रहे हैं। नताशा सोशल मीडिया पर काफी लोकप्रिय हैं और हाल ही में उनका एक वीडियो आया था, जिसका कई लोग मजाक उड़ा रहे हैं। बॉलीवुड अभिनेत्री नताशा स्टेनकोविक और क्रिकेटर हार्दिक पांड्या अभी भी साथ में खुश हैं, जिससे उनके प्रशंसक काफी खुश हैं। उनके तलाक की अफवाहें थीं, लेकिन उन्होंने इस बारे में कुछ नहीं कहा। लोग इस बात को लेकर उत्सुक हैं कि ये अफवाहें क्यों शुरू हुईं। तलाक की अफवाहों के बाद नताशा का जिम में डांस करने का एक वीडियो लोकप्रिय हुआ और कुछ लोगों ने उनके बारे में ऑनलाइन बुरा-भला कहा। View this post on Instagram A post shared by Viral Bhayani (@viralbhayani) नताशा स्टेनकोविक इंटरनेट पर काफी लोकप्रिय हैं। उन्होंने हाल ही में एक वीडियो बनाया है, जिसे काफी लोग देख रहे हैं, लेकिन कुछ मतलबी लोग उनके बारे में भद्दी बातें कह रहे हैं। कुछ लोगों ने वीडियो में मौजूद व्यक्ति को बुरा-भला और दुखदायी बातें लिखीं, पूछा कि उसने अपने तलाक को इतना बड़ा मुद्दा क्यों बनाया और उस पर केवल पैसे और ध्यान की परवाह करने का आरोप लगाया। इससे वह परेशान हो गई। नताशा स्टेनकोविक और हार्दिक पांड्या के तलाक की अफवाहें तब शुरू हुईं, जब नताशा ने अपना नाम बदल लिया और अपनी शादी की तस्वीरें हटा दीं। हार्दिक के भाई ने अपने बच्चों के साथ खेलते हुए एक प्यारी सी तस्वीर शेयर की, जिसे देखकर लोगों को लगा कि उनकी शादी में कुछ समस्याएं हैं। नताशा ने ऑनलाइन रहस्यमय संदेश पोस्ट किए, जिससे उनके तलाक की अफवाहों को और बल मिला।

कुवैत अग्निकांड: मुझे लगा मैं मर जाऊंगा…, कुवैत अग्निकांड में जीवित बचे व्यक्ति ने सुनाई भयावह कहानी, जिसमें 49 लोग जलकर मर गए थे

नलक्षण केरल में रहते हैं और कुवैत में लगी आग से बचने वाले भाग्यशाली लोगों में से एक थे। उन्होंने दुर्घटना के दौरान कुछ बहुत ही डरावनी चीजें देखीं और इसके बारे में एक बहुत ही दुखद कहानी सुनाई। जब आग लगी, तो मैं कुछ भी नहीं देख पा रहा था क्योंकि बहुत अधिक धुआं था। आग अपने रास्ते में आने वाली हर चीज को जला रही थी। मुझे लगा कि मैं शायद ज़िंदा नहीं बच पाऊंगा, इसलिए मैं बचने के लिए पानी की टंकी में कूद गया। शुक्र है कि मैं बच गया। कुवैत में लगी आग से बचकर निकलने वाले नलक्षण ने एक घंटे बाद रोते हुए अपने परिवार के साथ यह डरावनी कहानी साझा की। कुवैत आग त्रासदी में 49 लोगों की जान चली गई, जिनमें से 42 भारतीय थे। उनमें से ज़्यादातर केरल और मलयालम से थे और पैसे कमाने के लिए कुवैत गए थे। आग ने कई बच्चों के पिता को लील लिया और कुछ के माथे का सिंदूर भी मिट गया। लेकिन केरल के त्रिकारीपुर के रहने वाले नलक्षण उन लोगों में से एक हैं जो बच गए क्योंकि उन्होंने मौत को मात दे दी। जब उनका फ़ोन आया, तो परिवार ने राहत की सांस ली। उनके कई दोस्त उस आग का शिकार हो गए। आग लोगों को बहुत ज़्यादा गर्म करके उन्हें नुकसान पहुँचा रही थी। नलक्षण एक डरावनी स्थिति में था जहाँ आग जल रही थी और लोग बचने के लिए भाग रहे थे। वह तीसरी मंजिल पर फँस गया था और उसे समझ नहीं आ रहा था कि क्या करे। जब आग करीब पहुँची, तो उसे नीचे एक पानी की टंकी याद आई और उसने खुद को बचाने के लिए उसमें छलांग लगा दी। उसे चोट तो लगी लेकिन वह ज़िंदा होने के लिए शुक्रगुज़ार था। रंजीत को जुलाई में आना था। भारत के कई लोग, खासकर केरल और तमिलनाडु राज्यों से, कुवैत में लगी एक बड़ी आग में मारे गए। वे वहाँ काम करने और अपने परिवारों के लिए पैसे कमाने गए थे। उनमें से कुछ एक ही घर में साथ रह रहे थे। पीड़ितों में से एक स्टीफन अब्राहम साबू नाम का एक युवा इंजीनियर था, जिसकी माँ और दो भाई थे। एक अन्य पीड़ित, रंजीत ने अभी-अभी एक नया घर बनवाया था और जल्द ही अपने गाँव जाने की योजना बना रहा था। अब, उनके परिवार उनकी मौत से बहुत दुखी और सदमे में हैं।

‘कुंवारी बेगम’ ने बनाया ऐसा वीडियो कि गाजियाबाद में मच गया हड़कंप, अलर्ट हुई पुलिस और खदेड़े गाड़ियां

कुंवारी बेगम नाम की एक यूट्यूबर को एक वीडियो में कुछ बहुत ही बुरी बात कहने की वजह से परेशानी का सामना करना पड़ा। वह कुछ अनुचित बात कर रही थी जिससे बहुत से लोग परेशान हो गए। सोशल मीडिया पर लोग चाहते थे कि कुंवारी बेगम नामक यूट्यूबर को उनके द्वारा बनाए गए एक विवादित वीडियो के कारण गिरफ्तार किया जाए। वीडियो में वह अनुचित बातें कर रही थी और बच्चों के इस्तेमाल के बारे में गलत सलाह दे रही थी। गाजियाबाद पुलिस को इस बारे में पता चला और वह कार्रवाई करने के लिए तैयार हो गई। कुंवारी बेगम का असली नाम शिखा मैत्रेय है और वह गाजियाबाद में रहती हैं। उन्हें वीडियो गेम खेलना पसंद है और उनका ‘कुंवारी बेगम’ नाम का एक यूट्यूब चैनल है जहां वह अपने प्रशंसकों से बात करती हैं और उनके सवालों के जवाब देती हैं। हालांकि, जब उनके एक वीडियो ने कुछ परेशानी पैदा की तो उन्होंने अपने सोशल मीडिया अकाउंट डिलीट करने और अपने यूट्यूब चैनल को प्राइवेट करने का फैसला किया। जिस वीडियो के बारे में बहुत से लोग बात कर रहे हैं उसमें शिखा मैत्रेय नाम की एक यूट्यूबर ऐसी बातें कह रही हैं जो हर किसी के लिए सुनना ठीक नहीं है। वह हस्तमैथुन नामक किसी चीज के बारे में बात कर रही हैं जिससे बहुत से लोग परेशान हो रहे हैं। दीपिका भारद्वाज नाम की एक महिला ने पुलिस को बताया कि कुंवारी बेगम नाम की एक महिला ने कुछ गलत किया है और उसे सजा मिलनी चाहिए। पुलिस मामले की जांच कर रही है। उन्होंने शिखा नाम की एक यूट्यूबर को भी गिरफ्तार किया है। सोशल मीडिया पर लोगों ने पाया कि मैत्रेय ने NIFT दिल्ली से पढ़ाई पूरी की है और अब वह एक कपड़े और फैब्रिक कंपनी में नौकरी कर रही है।

सियासी लड़ाई ‘आत्मा’ पर आ गई, शरद पवार ने क्यों कहा- ये आत्मा आपको नहीं छोड़ेगी, किस पर था निशाना

महाराष्ट्र में एक महत्वपूर्ण चुनाव में पार्टी के बहुत अच्छा प्रदर्शन करने के बाद, शरद पवार नामक एक नेता एक और चुनाव की तैयारी कर रहे हैं। वे प्रधानमंत्री के खिलाफ बोल रहे हैं और कह रहे हैं कि वे आसानी से हार नहीं मानेंगे। एनसीपी शरद नामक एक समूह के नेता शरद पवार ने महाराष्ट्र में एक बड़े चुनाव में बहुत अच्छा प्रदर्शन किया। अब, वे दिवाली के त्यौहार से पहले राज्य में होने वाले एक और चुनाव की तैयारी कर रहे हैं। वे अलग-अलग जगहों पर जा रहे हैं और लोगों से उनका समर्थन पाने के लिए बात कर रहे हैं। इनमें से एक कार्यक्रम में, उन्होंने प्रधानमंत्री से बात की, जिन्होंने पिछले चुनाव के दौरान उनके बारे में बुरी बातें कही थीं। शरद पवार को प्रधानमंत्री के बोलने का तरीका पसंद नहीं आया। उनका मानना ​​है कि हमारा आंतरिक स्व हमेशा हमारे साथ रहता है और हमें कभी नहीं छोड़ता। शरद पवार ने यह बात एनसीपी की 25वीं वर्षगांठ के जश्न के दौरान कही। शरद पवार ने एक बैठक में प्रधानमंत्री मोदी द्वारा कही गई किसी बात पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री को अधिक सम्मान और गरिमा के साथ काम करना चाहिए। उन्होंने यह भी उल्लेख किया कि राजनीति में दूसरों के बारे में टिप्पणी करते समय सम्मानजनक होना महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि मोदी ने कहा कि मैं भटकती आत्मा की तरह हूं, जिसका मतलब है कि मेरी आत्मा हमेशा मेरे साथ रहेगी। राज्य में 48 जगहें हैं जहां राजनेता काम करते हैं, और भाजपा उन जगहों पर जीत हासिल करने में बहुत अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाई। वे केवल नौ जीते, जबकि एनसीपी ने जिन दस सीटों पर प्रयास किया, उनमें से आठ पर जीत हासिल की। ​​कांग्रेस के पास लोकसभा में राज्य का प्रतिनिधित्व करने वाले सबसे अधिक राजनेता हैं, जिनके 13 सदस्य सीटें जीत चुके हैं।

VIDEO: इस पुलिसकर्मी ने अकेले ही 7 डकैतों पर किया काबू, फिल्मी स्टाइल में लुटेरों को सिखाया सबक!

पश्चिम बंगाल में पुलिस ने सोशल मीडिया पर एक डकैती की कहानी शेयर की। उन्होंने बताया कि डकैती के दौरान किसी ने 20 बार बंदूक चलाई, लेकिन भागने से पहले चोरी की गई आधी चीज़ें ही ले गया। पुलिस ने डकैती में शामिल एक व्यक्ति को पकड़ लिया और बाकी की तलाश कर रही है। रानीगंज में पिछले हफ़्ते 7 लुटेरों के एक समूह ने एक ज्वेलरी स्टोर से चोरी करने की कोशिश की। सौभाग्य से, एक बहादुर पुलिस अधिकारी वहाँ मौजूद था और उसने उन्हें रोक दिया। पुलिस अधिकारी ने अकेले ही लुटेरों से मुकाबला किया और उन्हें 4 करोड़ रुपये लूटने से रोका। पूरी घटना स्टोर के बाहर लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई। वीडियो में आप सब-इंस्पेक्टर मेघनाद मंडल को एक खंभे के पीछे से लुटेरों का सामना करते हुए देख सकते हैं। पश्चिम बंगाल में पुलिस ने एक वेबसाइट पर शेयर किया कि किसी ने एक जगह पर बंदूक चलाई। उन्होंने बताया कि उस व्यक्ति ने 20 बार गोली चलाई, कुछ चीज़ें लीं और फिर भाग गया। पुलिस ने इसमें शामिल एक व्यक्ति को पकड़ लिया और बाकी की तलाश कर रही है। रविवार दोपहर को, नकाब पहने और बंदूक लिए सात लोग एक ज्वेलरी स्टोर में घुस गए। उन्होंने दुकान के मालिक और ग्राहकों को डरा दिया और जल्दी से 4 करोड़ रुपये से ज़्यादा के गहने चुरा लिए। मंडल नाम का एक पुलिस अधिकारी अपना काम कर रहा था। उसने सामान्य कपड़े पहने हुए थे, लेकिन उसके पास उसकी बंदूक थी। उसने एक दुकान के पास कुछ अजीबोगरीब चीजें होते हुए देखीं और देखा कि लोग डरे हुए लग रहे थे। इससे उसे लगा कि कुछ बुरा हो सकता है। पुलिस अधिकारी मंडल दुकान के पास एक खंभे के पीछे छिप गया और अपनी बंदूक चलाने ही वाला था कि एक लुटेरे ने उसे देख लिया। लुटेरे ने फिर दुकान में मौजूद दूसरे लुटेरों को बताया और गोली चलानी शुरू कर दी। फिर पुलिस अधिकारी और लुटेरे दोनों ने एक-दूसरे पर गोली चलानी शुरू कर दी। पुलिस अधिकारी 30 सेकंड तक बहादुरी से खड़ा रहा और एक खंभे के पीछे से लुटेरों पर गोली चलाता रहा। उसने एक लुटेरे को गोली मारी और लुटेरा गिर गया। फिर दूसरे लुटेरे भी शामिल हो गए और उन्होंने भी गोली चलानी शुरू कर दी। मंडल बहुत बहादुर था और जब लुटेरे उस पर गोली चला रहे थे, तो वह डरा नहीं। लुटेरे मंडल की बहादुरी से डर गए और भाग गए। वे अपने घायल दोस्त को बाइक पर ले गए और बहुत सारे पैसे के गहने चुरा लिए। जल्दी में लुटेरे बाइक, गहने, बैग और गोलियां जैसी कुछ कीमती चीजें पीछे छोड़ गए। पुलिस अधिकारी ने हार नहीं मानी और लुटेरों का पीछा किया, लेकिन लुटेरे लगातार गोली चलाते रहे। जब वह खुद उन्हें पकड़ नहीं पाया तो अधिकारी ने बैकअप के लिए बुलाया और पास के एक राज्य में पुलिस को भी सूचित किया। जब लुटेरे एक कार पर गोली चला रहे थे और उसमें बैठे लोगों को ले जा रहे थे, तो पुलिस तुरंत मदद के लिए आ गई। उन्होंने लुटेरों में से एक सूरज सिंह को पकड़ लिया और अपहृत लोगों को बचाया।

रसोई में काम कर रही महिला के सामने सिलेंडर फटा, मच गई चीख-पुकार

इस दुखद वीडियो में, एक महिला रसोई में बर्तन धो रही है, तभी उसके बगल में रखा गैस सिलेंडर अचानक फट जाता है। आज, एक वीडियो ऑनलाइन फैल रहा है, जिसमें रसोई में एक भयानक दुर्घटना दिखाई गई है। एक महिला बर्तन धो रही थी, तभी उसके बगल में रखा गैस सिलेंडर फट गया। सौभाग्य से, वह बच गई, लेकिन वीडियो से पता चलता है कि वह कितनी डरी हुई और आहत थी। एक बहुत ही दुखद वीडियो जो आपके दिल में गहरी भावनाओं को जगाता है। एक डरावना वीडियो सोशल मीडिया पर @klip_ent नाम के किसी व्यक्ति ने शेयर किया है। 28 सेकंड के इस वीडियो में, एक भयावह दृश्य दिखाया गया है, जिसमें रसोई में सिलेंडर फटने पर एक महिला डर जाती है। वह नीचे गिर जाती है और रसोई का सारा सामान उड़ जाता है। फिर महिला डर के मारे चीखते हुए रसोई से बाहर भागती है। यह वीडियो कमज़ोर दिल वाले लोगों के लिए सुरक्षित नहीं है। यह पूरी घटना घर में लगे कैमरे में कैद हो गई और बहुत से लोगों ने इसे इंटरनेट पर देखा। हमें नहीं पता कि यह कहां हुआ। 34 हज़ार से ज़्यादा लोगों ने वीडियो देखा है। इसे देखने वाले एक व्यक्ति ने कहा कि उन्हें खुशी है कि महिला को कोई चोट नहीं आई। एक अन्य व्यक्ति ने कहा कि शायद टैंक में अधिक गैस नहीं थी, इसलिए विस्फोट इतना भयानक नहीं था।