Japan का अगले 5 वर्षों में 42 अरब डॉलर का भारत में निवेश करने का लक्ष्य : द्विपक्षीय बैठक के बाद बोले PM मोदी

भारत और जापान के बीच यह द्विपक्षीय बैठक ऐसे वक्त हुई है, जब दुनिया में यूक्रेन संकट को लेकर चौतरफा चिंता जताई जा रही है.

Japan अगले पांच सालों में 42 अरब डॉलर का निवेश भारत करेगा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) के साथ जापानी पीएम फुमियो किशिदा (Japanese PM Fumio Kishida) के साथ दिल्ली में हुई साझा प्रेस कान्फ्रेंस में इसका ऐलान किया गया. भारत और जापान के बीच सालाना स्तर पर ये शिखर बैठक आयोजित की जाती है. दोनों देशों के बीच कुल छह समझौतों पर हस्ताक्षर किए गए हैं. भारत और जापान ( India Japan) के बीच यह द्विपक्षीय बैठक ऐसे वक्त हुई है, जब दुनिया में यूक्रेन संकट (Ukraine Crisis) को लेकर चौतरफा चिंता जताई जा रही है. किशिदा भारत एक उच्चस्तरीय प्रतिनिधिमंडल के साथ आए हैं. वो प्रधानमंत्री बनने के बाद पहली बार भारत आए हैं.

Japan

किशिदा शाम चार बजे के करीब भारत पहुंचे थे. उसके बाद दोनों देशों के प्रतिनिधिमंडलों के बीच लंबी वार्ता हुई. किशिदा की प्रधानमंत्री मोदी के साथ लंबी बातचीत चली. जापान के 5 ट्रिलियन येन या 42 अरब डॉलर के निवेश का रुपयों में आकलन करें तो यह 3.2 लाख करोड़ रुपयों में बैठता है. इससे पहले जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे जब 2014 में भारत आए थे, तो पांच साल में 3.5 ट्रिलियन येन के निवेश और मदद का ऐलान उन्होंने किया था.

Japan लंबे समय से भारत के शहरों के बुनियादी ढांचे के विकास और बदलाव में मदद कर रहा है

इसमें हाईस्पीड रेलवे भी शामिल है, जिसके तहत मुंबई से अहमदाबाद के बीच बुलेट ट्रेन (slug train) का संचालन शामिल है. इससे पहले पीएम मोदी और जापानी प्रधानमंत्री किशिदा के बीच हैदराबाद हाउस में बातचीत हुई थी. दोनों देशों ने आर्थिक और सांस्कृतिक संबंधों को मजबूत करने पर जोर दिया. प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से यह जानकारी दी गई.

  • All Post
  • Business
  • Education
  • Entertainment
  • Fact Check
  • International news
  • Local news
  • National
  • National News
  • Politics
  • Sport

Top Stories

Advertisement

Hindustani Reporter Ads

Features

What'sapp Updates

Get Latest Update on Your What’s App